Sad Shayari

  1. जी भर के रोते है तो करार मिलता है,
    इस जहा मे कहा सबको प्यार मिलता है,
    ज़िंदगी गुज़र रही है इंतेहानो के दौर से,
    एक ज़ख़्म भरता नही दूसरा तैयार मिलता है
  2. ज़ुबान खामोश आँखों में नमी होगी,
    ये बस एक दास्तां-ए ज़िंदगी होगी !!
    भरने को तो हर ज़ख्म भर जाएगा,
    कैसे भरेगी वो जगह जहाँ तेरी कमी होगी
  3. माना की तेरे शहर में ग़रीब हमसे कम हैं,
    अगर तेरी वफ़ा बिकी तो सबसे पहले ख़रीददार हम है..!
    तुझे खबर ना होगी अपनी कीमत की,
    तुझे पाकर सबसे अमीर हम है…
  4. दिल को मानना गर होता आसान..
    ना करता किसी को यून ये परेशान..
    तन्हा ना रहता भारी महफ़िल मैं..
    ना होती वो हालत जो हो ना बयान.
  5. निगाहों में बिठाना चाहता है
    वो अपना दिल लगाना चाहता है
    सँभल कर फासलों से चल जरा
    वो ख़ंजर आज़माना चाहता है
  6. ये मत कहना कि तेरी याद से रिश्ता नहीं रखा
    मैं खुद तन्हा रहा पर दिल को तन्हा नहीं रखा
    तुम्हारी चाहतों के फूल तो महफूज रखे हैं
    तुम्हारी नफरतों की पीड़ को जिंदा नहीं रखा
  7. बहुत रोए वो हुमारे पास आके,
    जब एहसास हुआ उन्हे अपनी ग़लती का,
    चुप करवा देते हम अगर,
    चेहरे पे हुमारे कफ़न ना होता.
  8. बदलना आता नहीं हमे मौसम की तरह,
    हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं,
    ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक,
    कसम तुम्हारी तुम्हे हम इतना प्यार करते हैं
  9. प्यार ने प्यार को दूर से देखा,
    प्यार ही प्यार को करीब लाया,
    प्यार भी प्यार में समा गया मगर अफ़सोस,
    प्यार ही प्यार को समाज ना पाया..
  10. तक़दीर के आईने में मेरी तस्वीर खो गई,
    आज हमेशा के लिए मेरी रूह सो गई,
    मोहब्बत करके क्या पाया मैंने,
    वो कल मेरी थी आज किसी और की हो गई
  11. दिल को बस उसकी याद आती हे,
    वो दिल को उदास कर जाती हे,
    कोई पूछता है हमे प्यार कितना हे दिल मे,
    कुछ नही कहते बस आँख भर आती हे
  12. बदलना आता नहीं हमे मौसम की तरह,
    हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं,
    ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक,
    कसम तुम्हारी तुम्हे हम इतना प्यार करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *